रचनात्मक लोगों को डरना नहीं चाहिए: शाहिद कपूर

News Wing

Mumbai, 08 December: शाहिद कपूर की हालिया फिल्म ‘पद्मावती’ भले ही विवादों में फंस गयी हो और अब भी इसकी रिलीज की बाट जोही जा रही हो लेकिन अभिनेता का कहना है कि रचनात्मक लोगों को डरना नहीं चाहिए क्योंकि कला डर से नहीं पैदा होती है.

‘‘उड़ता पंजाब’ को लेकर भी हुआ था विवाद

संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावती’ की रिलीज को लेकर विवाद हो गया है क्योंकि कई संगठनों का आरोप है कि फिल्म में इतिहास को ‘‘तोड़ मरोड़ कर’’ पेश किया गया है. फिल्म का हिस्सा रहने के कारण भंसाली और दीपिका दोनों को जान से मारने की धमकी भी मिली है. क्या भविष्य में किसी ऐतिहासिक पृष्ठभूमि वाली फिल्म का हिस्सा बनने से शाहिद डर महसूस करेंगे ? इस सवाल पर शाहिद ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘उड़ता पंजाब’ तो ऐतिहासिक पृष्ठभूमि वाली फिल्म नहीं थी लेकिन उसे लेकर भी काफी विवाद हुआ था.

यह भी पढ़ें: प्रियंका चोपड़ा चुनी गईं 'सबसे सेक्सी एशियाई महिला'

दबाव में आप कोई रचना नहीं कर सकते

मुझे नहीं लगता कि डर सही शब्द है. मुझे नहीं लगता कि रचनात्मक लोगों को डरना चाहिए क्योंकि अगर आप पर दबाव बनाया गया तो आप कोई रचना नहीं कर सकते हैं. जब तक आप खुला और आजाद महसूस नहीं करेंगे तब तक आप रचना नहीं कर सकते हैं और मेरा मानना है कि कला समाज की झलक पेश करती है.’’ अभिनेता ने कहा कि वह उन सभी लोगों के शुक्रगुजार हैं जो फिल्म के समर्थन में सामने आये. उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी फिल्म के लिये जब तक आप अपना दिल और अपनी आत्मा नहीं झोंकेंगे तब तक ‘पद्मावती’ जैसी फिल्म आप नहीं बना सकते.’’ अभिनेता बीती रात रीबॉक के फिट टू फाइट पुरस्कार समारोह के दौरान बोल रहे थे.

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Add new comment