Skip to content Skip to navigation

लिंग परीक्षण को लेकर SC ने केंद्र को दिया निर्देश, कहा तीनों सर्च इंजनों के साथ करे बैठक

News Wing

New Delhi, 14 December: उच्चतम न्यायालय ने केंद्र को बुधवार को निर्देश दिया कि वह सर्च इंजन-गूगल, याहू और माइक्रोसॉफ्ट इंजन जैसे पक्षों के साथ बैठक करे जिससे कि यह सुनिश्चित हो सके कि गर्भस्थ शिशु के लिंग परीक्षण को निषिद्ध करने वाले भारतीय कानूनों का उल्लंघन करने वाली सामग्री इन वेबसाइटों पर प्रदर्शित नहीं हो.

यह भी पढ़ें: सरकार ने माना मोमेंटम झारखंड के बाद किया फर्जी कंपनी से 6400 करोड़ का करार, पूछे जाने पर विधायक को दी गलत जानकारी

छह सप्ताह के भीतर होनी चाहिए बैठक

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति एएम खनविलकर तथा न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने यह भी निर्देश दिया कि बैठक बुधवार से छह सप्ताह के भीतर होनी चाहिए और याचिकाकर्ता के सुझावों पर भी विचार किया जाना चाहिए. याचिकाकर्ता साबू मैथ्यू जॉर्ज की ओर से पेश संजय पारिख ने कहा कि सर्च इंजन- गूगल, याहू और माइक्रोसॉफ्ट लिंग परीक्षण से संबंधित सामग्री को हटाने में खुद सक्षम हैं. इस तर्क का सर्च इंजनों की ओर से पेश वकील ने विरोध किया. शीर्ष अदालत ने जनहित याचिका को निपटाते हुए कहा कि केंद्र नोडल एजेंसी है और विशेषज्ञ कदम उठाएंगे जिससे कि संबंधित कानूनों का उल्ल्ंघन न हो.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Lead
Share

Add new comment

loading...