बाजार समिति को ट्रांसपोर्ट नगर बनाया गया तो ईंट से ईंट बजा देंगेः आदिवासी सेना

News Wing Ranchi, 13 December: आदिवासी सेना ने बुधवार को पंडरा कृषि बाजार के रैयतों के साथ बैठक की. बैठक को संबोधित करते हुए आदिवासी सेना के अध्यक्ष शिवा कच्छप ने कहा कि सरकार ने रैयतों से कृषि बाजार के लिए जमीन ली थी, लेकिन सरकार की मंशा यहां ट्रांसपोर्ट नगर बनाने की है, जिसे कभी पूरा नहीं होने दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि अगर सरकार ट्रांसपोर्ट नगर बनाती है तो रैयतों की जमीन वापस किया जाये. यह कानून भी है कि जिस काम के लिए रैयतों से जमीन ली गयी अगर उसका उपयोग नहीं होता है तो वह जमीन वापस रैयतों को मिल जाता है. उन्होंने कहा कि अगर पंडरा में ट्रांसपोर्ट नगर बनता है तो ट्रैफिक व्यवस्था खराब हो जायेगी. शहर में प्रदूषण भी बढ़ेगा. आसपास रहने वाले लोगों का जीन दूभर हो जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः रांची : पंडरा में ट्रांसपोर्ट नगर बना तो आम जनता होगी परेशान, लोगों में सरकार के प्रति रोष

दोहरा चरित्र अपना रहे हैं मंत्री सीपी सिंहः सुनील तिर्की

पंडरा पंचायत के मुखिया सुनील तिर्की ने कहा कि मंत्री सिपी सिंह दोहरा चरित्र अपना रहे हैं. उनकी कथनी और करनी मे अंतर है. मीडिया के समक्ष सरकार के मुखिया के विरोध में कोहड़े सा मुंह फुलाए रहते हैं. वहीं जनता का अधिकार दिलाने के लिए घड़ियाली आंसू बहते हैं. सरकार के इस निर्णय से हजारों मजदूरो का रोजी रोजगार छिन जाएगा. 22 पडहा के लोग एवं रैयत गोलबंद होकर सरकार के इस निर्णय का जोरदार विरोध करेगी. इसकी तैयारी चल रही है.  

इसे भी पढ़ेंः पंडरा कृषि बाजार में ट्रांसपोर्ट नगर बनाने की राह आसान नहीं

रैयतों ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी

बैठक में रैयतों ने एक सुर में कहा कि ट्रांसपोर्ट नगर और कहीं बनाएं. कृषि बजार को यथावत रहने दिया जाये. सरकार अगर रैयतों की बात को अनसुनी करती है तो राजधानी रांची में उग्र अंदोलन किया जायेगा. बैठक में सुका उरांव, लालू उरांव, राजू तिर्की, राजेश महली, अमर तिर्की, सोमा उरांव, किशुन बिनहा, विजय तिर्की, सजन देवी और सरोज खलखो समेत कई लोग मैजूद थे.

Add new comment